April 12, 2013

Episode 6 – Popat Kaka

You can watch the video here on the official YouTube channel.

A Devanagari and transliterated transcript are available.

NOTE: I’m still editing this transcript. Let me know if you see any errors.

If you don’t understand something, you are welcome to ask questions in the comments.

Devanagari Transcript

Scene 1

इन्द्रवदन: अरे, माया, क्या बना रही हो खाने में?
माया: मुंग की दाल और rice
इन्द्रवदन: hi, मोनीषा
मोनीषा: hi
इन्द्रवदन: क्या बना रही हो?
मोनीषा: मुंग और चावल
इन्द्रवदन: माया, मैं घर पे खाना खाऊंगा.
माया: (speaks Gujarati on the phone)
इन्द्रवदन: पर यह मुंग की दाल और चावल क्यों बनाए?
माया: वीरेन इनके फोन आया था, Los Angeles से. मेरे पोपट काका.
इन्द्रवदन: गए?
माया: नहीं. तायारी में हैं.
इन्द्रवदन: come on, come on, माया. don’t cry. तुम जानती हो तुम रोती हो तो और भी अच्छी नहीं लगती.
माया: इंद्रवदन! Please! You know, वीरेन कह रहा था कि उन्होने बिल्कुल बिस्तर पकड़ लिया है. चल फिर भी नहीं सकते बेचारे.
इन्द्रवदन: come on, माया, वो नब्बे साल के हैं. इस उम्र में कोई भी इंसान vegetable जैसा हो जाता है.
माया: I know, I know, darling. I mean, अपनी मोनीषा को ही देख लो, इतनी छोटी उम्र में बिल्कुल vegetable जैसी हो गई है.
दिन भर sofa पर पड़ी रहती है. दोपहर की t.v. serial देखती रहती है. सब्ज़ी भी वहीं लेते लेते काटती है. चाय पीती है तो glass उठाकर
फिर
kitchen नहीं ले रखती. तेल लगा, सिर्फ़ sofa के cushion में रख देती है.
इन्द्रवदन: पोपट काका. माया, हम पोपट काका की बात कर रहे थे, ना.
माया: हां, वीरेन कह रहा था कि दिन भर मुझे याद करते रहते हैं. माया, माया, माया को बुलाओ.
इन्द्रवदन: अच्छा तो कब जाना हो रहा है Los Angeles तुम्हारा?
माया: हमारा! हम सब का!

Scene 2 (1:45)

साहिल: मैं नहीं जा सकता, मोनू.
मोनीषा: क्यों?
साहिल: मेरे एक patient ने मुझ पर case कर दिया. यह देखो.
anticipated bail लेकर आ रहा हूँ मैं. यह देखो. पढ़ो.
मोनीषा: anticipated bail… पाँच हज़ार रुपये!
साहिल: उसने मुझ पर case क्यों किया यह बताऊँ या वो ठीक है?
मोनीषा: हाँ, हाँ. बताओ.
साहिल: उसके बाल झड़ रहे थे. तो मैने अपना hair follicle का treatment course करवाया.
उसके सिर पर अच्छी खांसी फसल हो गयी है लेकिन
साथ साथ कानों पर बालों का खेत निकलाया

मोनीषा: कानों पर? uh!
साहिल: exactly ऐसी reaction दी उसकी बीवी ने.
मोनीषा: लेकिन कभी कभी side effects हो जाते हैं ना साहिल?
साहिल: मैने उसे समझाया, sweetheart, मतलब example भी दिया की
हुमारी सुमित्रा
auntie थी जिन की मूंछे निकलाई थी मतलब
building के बच्चे उन्हें “hello, अनिल कपूर auntie” कहके बुला देते हैं.
फिर भी उन्होने मुझपर case नहीं किया.
मोनीषा: लेकिन तुमने उन्हें treatment करने से पहले warning दी थी ना?
साहिल: of course! clinic patient की sign ले लेता है. इसीलिए there is nothing to worry about it.
I mean, वो case तो हार ही जाएगा. लेकिन जब तक case ख़त्म नहीं हो जाता तो I can’t leave the country.
मोनीषा: नहीं नहीं, साहिल. मुझे Los Angeles जाना है. बेचारे पोपट काका.
साहिल: तुमने पोपट काका को देखा भी नहीं है.
मोनीषा: हाँ, लेकिन वो आख़िरी साँसें ले रहा है, साहिल.
बच्चों का फ़र्ज़ बनता है ना, बड़ों का सेवा करना.
साहिल: hm?
मोनीषा: Los Angeles के malls में 60% की sale लगी है. मुझे जाना है, साहिल.
please, darling, मुझे जाना है, साहिल.

Scene 3 (3:23)

रोसेश: momma!
माया: रोसेश, हौसला रखो, sweetie.
रोसेश: कैसे रखूं हौसला, momma?
माया: control yourself, sweetie.
रोसेश: कैसे करूँ control, momma?
माया: बेटा, समझने की कोशिश करो.
रोसेश: कैसे समझने की कोशिश करूँ, momma?
इंदु: तीन में से एक भी चीज़ करनी नहीं आती है तुझे?
हुमेशा पूछता रहता हैकैसे करूँ momma?”. माया, इसकी शादी हो गयी तो क्या होगा?
माया: इंदु, please! just shut up! एक तो बेचारे का visa reject हो गया है
इंदु: वो तो होना ही था, मैने इससे कहा था कि visa officer के सामने बुर्क़ा पहनके जाना,
फिर भी उसने अपना चहेरा दिखाया, फिर भी उपर से मुँह भी खोला,
“hi, I want to visit my my parrot uncle in the U.S.”
माया: बक़वास बंद करो इंदु और कुछ काम करो. जाओ. पानी ले आओ.
इंदु: मैं मर्द हूँ.
माया: पता है, लेकिन अब इसका कुछ नहीं हो सकता है. तुम्हें इसको accept करनी ही होगी.
रोसेश: अब कितने दिन के लिए जा रही हैं?
माया: एक महीना तो लगेगा न
रोसेश: एक महीना! मैं तो आधा मार जाऊँगा, momma.
इंदु: माया, in that case, तुम दो महीने के लिए क्यों नहीं निकली जाती?
माया: इन्द्रवदन, please! Answer the phone.
इंदु: मैं मर्द हूँ. कौन? वीरेन?
माया: वीरेन! क्या हुआ?

Scene 4 (4:53)

मोनीषा: पोपट काका गुज़र गये, साहिल.
साहिल: ah, I know that. चलो, अपने आप को संभालो.
मोनीषा: हम लोग Los Angeles नहीं जा रहे हैं.
साहिल: hm.
मोनीषा: हम शोक यहीं मनाएँगे.
साहिल: तो?
मोनीषा: तो क्या? Los Angeles में [inaudible; some fictitious name brand] साबुन सिर्फ़ दो dollar dozen हैं. chance गया न.

Scene 5 (5:15)

साहिल: शांत हो जाइए, mom.
रोसेश: होनी को कौन ताल सकता है, momma.
इंदु: हाँ, रोसेश को देखो न.
माया: मुझे अपने कंधे पर बिठाकर ice cream खिलाने ले जाते थे पोपट काका.
साहिल: mom जब छोटी थी न, तब.
मोनीषा: अच्छा, तब.
माया: you know, मेरा कंयाडान भी, उन्होने किया था, और वो diamond का set है न,
जो मैने तुम्हें दिया मोनीषा
मोनीषा: कौन सा?
माया: वहीं, जो तुम artificial silk की सलवार कमीज़ पर पहनती हो.
वो भी मुझे पोपट काका ने दिया था. मैं उनकी लाड़ली थी.
मोनीषा: होंगी. तभी तो उन्होने ऐसी शरारती pet names से बुलाने की हिम्मत कर सकती हैं आप
पोपट काका.
साहिल: मोनीषा, यही उनका असली नाम था.
मोनीषा: पोपट?
माया: गुजरातीयों में बूज़र्गों के ऐसे ही नाम होते हैं. हाथी भाई, गुज़रा लाल
इंदु: हाँ, हमारी एक मामी का नाम तो मिर्ची मामी था. बहुत डरती थी वो पोपट काका से.
you know, मिर्ची, पोपट.
माया: घर में देहांत हुआ है
इंदु: हाँ, माया. मैं तो माहौल relax करने की कोशिश कर रहा हूँ.
रोसेश: कैसे होगा relax? momma के तो जैसे daddy ही गुज़र गये.
momma, obituary देनी तो पड़ेगी न newspaper में. मैने लिखी है. पढ़के सुनाता हूँ.

पोपट काका की आत्मा का पोपट उड़ गया उड़ गया उड़ गया रे
श्रीष्टि के स्रजन हाथ से पोपट जुड़ गया जुड़ गया जुड़ गया रे
.

How is it?

इंदु: रोसेश, यह पढ़कर पता चलेगा कि पोपट काका गुज़र गया है?
रोसेश: of course पता चलेगा. आत्मा का पोपट उड़ गया मतलब what?
साहिल: थोड़ा complicated है. थोड़ा.
तुम यह मुझे दे दो मैं ऐसे rewrite करके छपा दूँगा.
mom, कब रखनी है प्राथना सभा?

Scene 6 (8:02)

माया: सुकेतु भाई, पोपट काका की शोक सभा में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती.
सुकेतु: आप बिल्कुल चिंता मत कीजिए. मैं और उर्मिला ऐसे गाने गाएँगे कि ख़तरनाक ख़ूँख़ार terrorist होगा न
वो भी रो पड़ेगा
.
इंदु: शोक सभा में किसी ख़तरनाक ख़ूँख़ार terrorist को बुलाने वाले नहीं हैं, है न माया.
सुकेतु: नहीं नहीं, यह तो एक बात कही. मेरी उर्मिला तो पैदाइशी रुदाली है.
गाना छोड़ो, वो बात करके लोग सुनके भी रो पड़ते हैं.
इंदु: फिर तो बड़ी मुश्किल होती होगी.
सुकेतु: क्यों?
इंदु: ज़रा सोचिए कि वो shopping पे जाती होंगी, पूछती होंगी कि वो साड़ी कितनी की है,
वो sales girl बिल्कुल रोके जवाब देती होगी न, कि बारह सौ की है, madam.
सुकेतु: नहीं नहीं नहीं नहीं, यह तो एक बात कही थी.
माया: किसी की आवाज़ में ऐसा दर्द होता है, किसी की खाने में. सब्जी में बहुत मिर्ची है बेटा.
मोनीषा: अच्छा? लेकिन परसों रात को यह ठीक थी.
माया: परसों रात की सब्जी है यह?
मोनीषा: हाँ
सुकेतु: नहीं नहीं अच्छी है, काफ़ी अच्छी है. चटपटी सी, मसाला ग्रहण कर गयी है!
मोनीषा: तो और लीजिए न. लीजिए लीजिए. खाइए. यह भी तो try कीजिए. यह मेरी special recipe है.
देखिए तुम.
माया: मोनीषा घर में दावत नहीं हो रही है बेटा. death हुई है.
इंदु: वापस ले लो.
माया: Oh God help me, मोनीषा, रहने दो. सुकेतु भाई, आप जितना खा सकें उतना खाइए please.
Mओनिश: क्या हुआ ममी जी?
रोसेश: momma, क्या हो गया आपको? अब ऐसे ख़ास क्यों रहे हो?
Mओनिश: इनके गले में कुछ अटक हो गया है.
रोसेश: momma, look at me. अब अपना नाक बंद करके मुँह से साँस लीजिए, ऐसे.
इंदु: रोसेश. तू नाक खोल और मुँह बंद कर. तू जो बता रहा है न, वो हिचकी मिटाने का इजाज़ है,
समझा?
माया: पानी!

Scene 7 (10:16)

मोनीषा: daddy जी, आपका वडा पाव. और ममी जी, आपकी दवाइयाँ.
माया: expiry date check कर लिया न?
मोनीषा: हाँ.
माया: कहीं यह दवाइयाँ तुम्हारे खाने की तरह पुरानी न हों
इंदु: तुम भी ख़ामखा इसके पीछे पड़ी रहती हो.
मोनीषा: daddy जी, आपकी आवाज़ खो क्या हुआ?
इंदु: कुछ नहीं, बेटा. वो तो माया को company दे रहा हूँ.
माया: cover up क्यों कर रहे हो? साफ़ साफ़ बताओ कि क्यों नहीं देते कि मोनीषा के खाने का कमाल है यह..
इंदु: नहीं माया. हो सकता है कि हवा में कोई virus चल रहा हो.
अगर इसके खाने से यह हाल होना था तो मोनीषा की आवाज़ भी बैठ जाती न
रोसेश: momma, भाबी की आवाज़ कैसी बैठती, भाभी ने तो खाना खाया ही नहीं.
Mओनिश: मेरा सोमवार है न.
माया: अच्छा अच्छा. तुम खुद खाना खाने वाली नहीं थी इसलिए तुमने सोचा कि fresh खाना
बनाने की ज़रूरत ही क्या है
, है न, बेटा.
मोनीषा: नहीं, ममी जी. मैं, मैं ऐसा सोचूँगी क्या? साहिल!
इंदु: अरे, मोनीषा, मोनीषा. मोनीषा. अरे मोनीषा सुनो. अरे वाह, मेरी आवाज़ तो खुल गयी.
माया, तुमने रुला दिया न बेचारी को.
माया: रोना तो मुझे आ रहा है.
इंदु: क्या हुआ?
माया: पोपट काका चाहते थे कि मैं उनकी शोक सभा में उनको श्रधंजलि देने के लिए मैं गाना गाऊं, और यह मेरी आवाज़.
all because of मोनीषा.

Scene 8 (11:49)

मोनीषा: कम से कम यह तो पूछ सकते थे, कि मैं क्यों जा रही हूँ.
साहिल: huh?
मोनीषा: नहीं! आपको पूछने की ज़रूरत नहीं!
मैं कैसे जा रही हूँ तो पूछ सकते थे न साहिल,
लेकिन वो भी मत पूछना तुम.
साहिल: कब जा रही हो?
मोनीषा: हाँ हाँ! मैं कब जाउंगी, इसी बात का तो इंतेज़ार है, तुम्हें और तुम्हारी मुमी को.
लेकिन एक बात कान खोलके सुनो साहिल. यह मेरा घर है, और मैं यह घर छोड़के जानेवाली नहीं हूँ.
कह दो अपनी ममी से.
साहिल: लेकिन mom ने तुम्हें कब कहा कि तुम घर छोड़के चली जाओ.
मोनीषा: directly वो कुछ नहीं कहती. उस दिन मैं बाहर जा रही थी, तो मुझसे पूछने लगी,
मोनीषा बेटा, तुम वापस आओगी“.
साहिल: शायद mom को लगा कि तुम हुमेशा घर छोड़के जा रही हो.
मोनीषा: मैं टमाटर खरीदने जा रही थी, साहिल.
साहिल: तो mom को ऐसा लगा होगा कि तुम टमाटर खरीदने के बाद तुम घर छोड़के जा रही हो.
Mओनिश: जब कोई घर छोड़के जा रहा हो, तो क्या वो टमाटर खरीदने बैठेगा?
साहिल: अगर चार रुपये kilo मिल रहे हो तो?
मोनीषा: hm. तो बैठेगा. लेकिन साहिल
साहिल: लेकिन, लेकिन इस वक्त वो परेशन है. I mean, पोपट काका की प्राथना सभा में वो गाना चाहती है,
उनका गला, अपने आप खराब हो गया. बोलो. तो थोड़ी upset हो गयी है, baby.
तो उन्हें संभालेगा कौन ऐसे वक्त में? हम!
मोनीषा: मगर साहिल प्राथना सभा का क्या होगा?

Scene 9 (13:32)

साहिल: Dad, ये गाने ठीक रहेंगे?
इंदु: अरे, hit रहेंगे, hit! अगर शोक सभा में सबको साथ गवाना है, तो ये गाने चलेंगे क्यूंकि लोगों के मुँह पे भी चड़े हुए
हैं न
. त्रिपाठी जी.
इंदु: प्रभु सुन ले तू हरी सुन ले तू
साहिल:
इंदु:
साहिल:
इंदु: पोपट काका की आत्मा. ओ हरी! 3x
को स्वर्ग दे
ओ सुन परमात्मा
2x
mmmmm….
साहिल: एक minute, एक minute
इंदु: क्या हुआ? हंस क्यों रहा है?
साहिल: क्या कर रहे हैं आप, Dad? to be very frank, this is sounding very ridiculous.
अब कुछ sober वाला गाना हो तो, Dad.
इंदु: अक्चा. sober वाला.
साहिल: हाँ, यह क्या है, दाद
इंदु: अच्छा sober वाला भी देखना है. त्रिपाठी जी, sober सुर.
इंदु: गुज़र गये पोपट काका, नबे साल जी लिया यहाँ
शौक से कीजिए भी
, उनकी शोक सभा
गुज़र गये पोपट काका

L.A. में रहते थे वो
सबके चाहते थे वो
हिचकी लगी मौत की
फट से निकल गये वो
गुज़र गये

साहिल: बंद बंद बंद बंद
इंदु: अरे, माया, शोक सभा में मैने गाने का फ़ैसला किया
माया: इन्द्रवदन, मैं चाहती हूँ कि लोग पोपट काका को याद करके आँसू बहाएँ, लेकिन
हंसते हंसते उनके आँखों में से आँसू निकलें
, ऐसा मैं बिल्कुल नहीं चाहती.
इंदु: अरे तो फिर हम
माया: मैं गा लूँगी किसी तरह
मोनीषा: आप गाएँगी, ममी जी. और झमके गाएँगी. यह लीजिए, झलंदर बाबा के कुएँ का पानी, पी लीजिए.
इसे पीके आपकी गला की खराश बिल्कुल चली जाएगी.
माया: नहीं, मैं ऐसी चीज़ों में विश्वास नहीं करती.
मोनीषा: लेकिन मैं बाबा के आश्रम में पूरे एक सौ एक रुपये चढ़ा के आई हूँ, यह देखिए guarantee receipt.
माया: guarantee receipt?
इंदु: माया मैं तो कहता हूँ पी लो ज़रा झलंदर बाबा की जाई बोलके
साहिल: हाँ, मों, पी लीजिए न
मोनीषा: please, ममी जी, पी लीजिए
साहिल: पी लीजिए, पी लीजिए

Scene 10 (16:21)

इंदु: हाँ, इलाबेन, वो झलंदर बाबा का कमाल देख लिया. हाँ माया का गला एकदम साफ़ हो गया.
आवाज़ भी चली गयी खराश के साथ साथ. हाँ, hello?
मोनीषा: ज़रूर इस पानी में किसी ने मिलावट की होगी, वरना वो कुआ तो एक सौ सात साल से मशहूर है.
इंदु: क्या? मोनीषा, तुमने माया को एक सौ सात साल पुराना पानी पिलाया?
साहिल: उस कुए में हर साल fresh पानी भी गिरता है, Dad. बारिश होती है न? नारद मुनि
um, mom, ये सारे problem मोनीषा की एक छोटी सी ग़लती की वजहथोड़ी बड़ी ग़लती की वजह
alright, बड़ी सी ग़लती की वजह से हुई है, और इसकी penalty मोनीषा को ही चुकानी पड़ेगी

Scene 11 (17:20)

मोनीषा: साराभाई परिवार की ओर से आप सब को जाई श्री कृष्णा. स्वर्गिया लाल पोपट
साहिल: पोपट लाल
मोनीषा: पोपट लाल गिरधारी लाल मोफट लाल की आत्मा को श्रधांजलि अर्पित करते हुए साराभाई परिवार की ओर से मैं एक भक्ति की पेश करने
जा रही हूँ
. मेरी सासू मा, श्रीमती माया साराभाई इनसे यह अधिकार मैं सिर्फ़ इसलिए लिया है, क्यूंकी इन्हें
पोपट काका के देहांत का बहुत सदमा पहुँचा है
, वो अपनी आवाज़ खो बैठी, यह मेरी संसु मा की महानता है,
कि उन्होने यह पवन ज़िम्मेदारी मुझपर सौंपी है, वैसे तो मेरी संसु मा का हृदय हुमेशा से बहुत विशाल रहा है
इंदु: साहिल?
साहिल: hm?
इंदु: इसे कह दे कि माया अभी तक ज़िंदा है, श्रधांजलि पोपट काका को दे रहे हैं
साहिल: पोपट काका
मोनीषा: तो मैं अपनी संसु मा की ओर से, यह भक्ति की पेश करती हूँ.
मोनीषा: (They sing a prayer: Vaishnava jaana to).

Scene 12

इंदु: अरे वाह, माया, क्या बना रही हो
माया: nachos with salsa, enchiladas, burritos, and ginger pudding.
इंदु: लेकिन माया, पोपट काका को गुज़रे हुए तो
माया: एक महीना हो गया, इन्द्रवदन. अब शोक ख़त्म है. in fact, कल मैने पोपट काका के लिए अपने घर पे एक
छोटी सी स्मरण सभा की है
, with cocktails, जिस में, मैं गाना गौंगी, finally.
इंदु: चलो. thank God तुम्हारी आवाज़ तो
माया: sound as a bell, for he was a jolly good fellow, he was a jolly good fellow,
he was a jolly good fellow, and so say all of us.
इंदु: वाह वाह वाह, English भजन गाओगी?
मोनीषा: ममी जी, मैं सब्जी लाई. anything wrong?
माया: not… not yet, बेटा. not yet!

Transliterated Transcript

Scene 1

Indu: are, maya, kya bana rahi ho khaane mein?
Maya: mungh ki daal aur rice.
Indu: hi, monisha!
Monish: hi!
Indu: kya bana rahi ho?
Monisha: mungh aur chawal.
Indu: maya, main ghar pe khana khaunga.
Maya: (speaks Gujarati on phone)
Indu: par yah mungh ki daal aur chawal kyon banaye?
Maya: viren inke phone aaya tha, los angeles se. mere popat kaka.
Indu: gaye?
Maya: nahin. tayaari mein hain.
Indu: come on come on, maya. don’t cry. tum janti ho tum roti ho aur bhi acchi nahin lagti.
Maya: Indravadan! Please! you know, viren keh raha tha ki unhone bilkul bistar pakad liya hai. chal phir bhi nahin sakte bechare.
Indu: come on maya vo navve saal ke hain. is umr mein koi bhi insaan vegetable jaisa ho jaata hai.
Maya: I know, I know, darling. I mean, apni monisha ko hi dekh lo, itni choti umr mein bilkul vegetable jaisi ho gayi hai.
din bhar sofa par padi rehti hai. dopahar ki t.v. serial dekhti rehti hai. sabzi bhi wahin lete lete kaatti hai. chai piti hai to glass uthakar
phir kitchen nahin le rakhti. tel laga sirf sofa ke cushions mein rakh deti hai.
Indu: popat kaka. maya, hum popat kaka ki baat kar rahe the, na.
Maya: haan, viren keh raha tha ki din bhar mujhe yaad karte rehte hain. maya, maya, maya ko bulao.
Indu: accha to kab jana ho raha hai los angeles tumhara?
Maya: humara. hum sab ka.

Scene 2 (1:45)

Sahil: main nahin ja sakta monu.
Monisha: kyon?
Sahil: mere ek patient ne mujh par case kar diya. yah dekho.
anticipated bail lekar aa raha hoon main. yah dekho. padho.
Monisha: anticipated bail… panch hazar rupaye!
Sahil: usne mujh par case kyon kiya yah bataun ya wo thik hai?
Monisha: haan, haan. batao.
Sahil: uske baal jhad rahe the. to maine apna hair follicle ka treatment course karwaya.
uske sir par acchi khasi fasal ho gayi hai lekin
saath saath kaanon par baalon ka khet nikalaya
Monisha: kaanon par? uh!
Sahil: exactly aisi reaction di uski biwi ne.
Monisha: lekin kabhi kabhi side effects ho jaate hain na Sahil?
Sahil: maine use samjhaya, sweetheart, matlab example bhi diya ki
humari sumitra aunty thi jin ki munchhe nikalayi thi matlab
building ke bacche ne unhein “hello, anil kapur aunty” kahke bula dete hain.
phir bhi unhone mujhpar case nahin kiya.
Monisha: lekin tumne unhein treatment karne se pehle warning di thi na?
Sahil: of course! clinic patient ki sign le leta hai. isiliye there is nothing to worry about it.
I mean, vo case to haar hi jayega. lekin jab tak case khatm nahin ho jata to I can’t leave the country.
Monisha: nahin nahin, Sahil. mujhe los angeles jaana hai. bechare popat kaka.
Sahil: tumne popat kaka ko dekha bhi nahin hai.
Monisha: haan, lekin wo akhiri saansen le raha hai, Sahil.
bacchon ka farz banta hai na, badon ka seva karna.
Sahil: hm?
Monisha: los angeles ke malls mein 60% ki sale lagi hai. mujhe jaana hai, Sahil.
please, Darling, mujhe jaana hai, Sahil.

Scene 3 (3:23)

Rosesh: momma!
Maya: rosesh, hausla rakho, sweetie
Rosesh: kaise rakhun hausla, momma?
Maya: control yourself, sweetie.
Rosesh: kaise karun control, momma?
Maya: beta, samajhne ki koshish karo.
Rosesh: kaise samajhne ki koshish karun, momma?
Indu: teen mein se ek bhi cheez karni nahin aati hai tujhe?
humesha puchta rehta hai “kaise karun momma?”. maya, iski shaadi ho gayi to kya hoga?
Maya: Indu, please! Just shut up! ek to bechare ka visa reject ho gaya hai
Indu: wo to hona hi tha, maine isse keha tha ki visa office karke samne burqa pehenke jaana,
phir bhi usne apna chehera dikhaya, phir bhi upar se munh bhi khola,
“hi, I want to visit my parrot uncle in the U.S.”
Maya: baqwas band karo indu aur kuch kaam karo. jao. paani le aao.
Indu: main mard hoon.
Maya: pata hai, lekin ab iska kuch nahin ho sakta hai. tumhein isko accept karni hi hogi.
Rosesh: ab kitne din ke liye jaa rahi hain?
Maya: ek mahina to lagega na
Rosesh: ek mahina! main to adha mar jaunga, momma.
Indu: Maya, in that case, tum do mahine ke liye kyon nahin nikali jaati?
Maya: Indravadhan, please! Answer the phone.
Indu: main mard hoon. kaun? viren?
Maya: viren! kya hua?

Scene 4 (4:53)

Monisha: popat kaka guzar gaye, Sahil.
Sahil: ah, I know that. chalo, apne aapk ko sambhalo.
Monisha: hum log los angeles nahin ja rahe hain.
Sahil: hm.
Monisha: hum shok yahin manayenge.
Sahil: to?
Monisha: to kya? los angeles mein main-main? sabun sirf do dollar dozen hain. chance gaya na.

Scene 5 (5:15)

Sahil: shaant ho jaiye, mom.
Rosesh: honi ko kaun taal sakta hai, momma.
Indu: haan, rosesh ko dekho na.
Maya: mujhe apne kande par bithakar ice cream khilane le jaate the popat kaka.
Sahil: mom jab choti thi na, tab.
Monisha: accha, tab.
Maya: you know, mera kanyadaan bhi, unhone kiya tha, aur wo diamond ka set hai na,
jo maine tumhein diya monisha
Monisha: kaun sa?
Maya: wohin, jo tum artificial silk ki salwar camiz par pehenti ho.
wo bhi mujhe popat kaka ne diya tha. main unki ladli thi.
Monisha: hongi. tabhi to unhone aisi shararti pet names se bulane ki himmat kar sakti hain aap –
popat kaka.
Sahil: monisha, yahi unki asli naam tha.
monisha: popat?
Maya: gujaratiyon mein buzargon ke aise hi naam hote hain haathi bhai, gujara lal
Indu: haan, humari ek mami ka naam to mirchi mami tha. bahut darti thi wo popat kaka se.
you know, mirchi, popat.
Maya: ghar mein dehant hua hai
Indu: haan, maya. main to mahaul relax karne ki koshish kar raha hoon.
Rosesh: kaise hoga relax? momma ke to jaise daddy hi guzar gaye.
momma, obituary deni to padegi na newspaper mein. maine likhi hai padhke sunata hoon.

popat kaka ki atma ka popat ud gaya ud gaya ud gaya re
shrishti ke srajan haath se popat jud gaya jud gaya jud gaya re.

how is it?

Indu: rosesh, yah padhkar pata chalega ki popat kaka guzar gaya hai?
Rosesh: of course pata chalega. atma ka popat ud gaya matlab what?
Sahil: thoda complicated hai. thoda.
tum yah mujhe de do main aise rewrite karke chapa dunga.
mom, kab rakhni hai prathana sabha?

Scene 6 (8:02)

Maya: suketu bhai, popat kaka ki shok sabha mein koi kasar nahin chodna chahti.
Suketu: aap bilkul chinta mat kijiye. main aur urmila aise gane gayenge ki khatarnak khunkhaar terrorist hoga na
vo bhi ro padega.
Indu: shok sabha mein kisi khatarnak khunkhaar terrorist ko bulane wale nahin hain, hai na maya.
Suketu: nahin nahin, yah to ek baat kahi. meri urmila to paidaishi rudali hai.
gaana chodo, vo baat karke log sunke bhi ro padte hain.
Indu: phir to badi mushkil hoti hogi.
Suketu: kyon?
Indu: zara sochiye ki vo shopping pe jaati hongi, puchti hongi ki vo sadi kitni ki hai,
vo sales girl bilkul roke jawab deti hogi na, ki barah sau ki hai, madam
Suketu: nahin nahin nahin nahin, yah to ek baat kahi thi.
Maya: kisi ki awaz mein aisa dard hota hai, kisi ki khaane mein. sabji mein bahut mirchi hai beta.
Monisha: accha? lekin parson raat ko yah thik thi.
Maya: parson raat ki sabji hai yah?
Monisha: haan
Suketu: nahin nahin acchi hai, kaafi acchi hai. chatpati si, masala grahan kar gayi hai!
Monisha: to aur lijiye na. lijiye lijiye. khaiye. yah bhi to try kijiye. yah meri special recipe hai.
dekhiye tum.
Maya: monisha ghar mein davat nahin ho rahi hai beta. death hui hai.
Indu: wapas le lo.
Maya: oh god help me, Monisha, rehne do. suketu bhai, aap jitna kha sake utna khaiye please.
MOnisha: kya hua mumi ji?
Rosesh: momma, kya ho gaya aapko? ab aise khaas kyon rahe ho?
MOnisha: inke gale mein kuch atak ho gaya hai.
Rosesh: momma,look at me. ab apna naak band karke munh se saans lijiye, aise.
Indu: Rosesh. tu naak khol aur munh band kar. tu jo bata raha hai na, vo hichki mitane ka ijaj hai,
samjha?
Maya: paani!

Scene 7 (10:16)

Monisha: daddy ji, aapka vada pav. aur mumi ji, aapki davaaiyan.
Maya: expiry date check kar liya na?
Monisha: haan.
Maya: kahin yah davaiyan tumhare khaane ki tarah purani na hon
Indu: tum bhi khaamakha iske piche padi rehti ho.
Monisha: daddy ji, aapki awaz ko kya hua?
Indu: kuch nahin, beta. vo to maya ko company de raha hoon.
Maya: cover up kyon kar rahe ho? saaf saaf batao ki kyon nahin dete ki monisha ke khaane ka kamal hai yah..
Indu: nahin maya. ho sakta hai ki hawa mein koi virus chal raha ho.
agar iske khaane se yeh haal hona tha to monisha ki awaz bhi baith jaati na
Rosesh: momma, bhabi ki awaz kaisi baithti, bhabhi ne to khana khaya hi nahin.
MOnisha: mera somwar hai na.
Maya: accha accha. tum khud khaana khane wali nahin thi isliye tumne socha ki fresh khaana
banane ki zarurat hi kya hai, hai na, beta.
Monisha: nahin, mumi ji. main, main aisa sochungi kya? sahil!
Indu: arre, monisha, monisha. monisha. arre monisha suno. arre vah, meri awaz to khul gayi.
maya, tumne rula diya na bechari ko.
Maya: rona to mujhe aa raha hai.
Indu: kya hua?
Maya: popat kaka chahte the ki main unki shok sabha mein unko shradhanjali dene ke liye main gana gaun, aur yah meri awaz.
all because of monisha.

Scene 8 (11:49)

Monisha: kam se kam yah to puch sakte the, ki main kyon ja rahi hoon.
Sahil: huh?
Monisha: nahin! aapko puchne ki zarurat nahin
main kaise ja rahi hoon to puche sakte the na sahil,
lekin vo bhi mat puchna tum.
Sahil: kab ja rahi ho?
Monisha: haan haan! main kab jaungi, isi baat ka to intezaar hai, tumhein aur tumhari mumi ko.
lekin ek baat kaan kholke suno sahil. yah mera ghar hai, aur main yah ghar chodke janewali nahin hoon.
keh do apni mami se.
Sahil: lekin mom ne tumhein kab kaha ki tum ghar chodke chali jao.
Monisha: directly vo kuch nahin kehti. us din main bahar ja rahi thi, to mujhse puchne lagi,
“monisha beta, tum wapas aaogi”.
Sahil: shayad mom ko laga ki tum humesha ghar chodke ja rahi ho.
Monisha: main tomatar kharidne ja rahi thi, sahil.
Sahil: to mom ko aisa laga hoga ki tum tomatar kharidne ke baad tum ghar chodke ja rahi ho.
MOnisha: jab koi ghar chodke ja raha ho, to kya vo tomatar kharidne baithega?
Sahil: agar char rupaye kilo mil rahe ho to?
Monisha: hmm. to baithega. lekin sahil…
Sahil: lekin, lekin is vakt vo pareshan hai. I mean, popat kaka ki prathana sabha mein vo gana chahti hai,
unka gala, apne aap kharab ho gaya. bolo. to thodi upset ho gayi hai, baby.
to unhein sambhalega kaun aise vakt mein? hum!
Monisha: magar sahil prathana sabha ka kya hoga?

Scene 9 (13:32)

Sahil: dad, ye gane thik rahenge?
Indu: arre, hit rahenge, hit! agar shok sabha mein sabko saath gawana hai, to ye gane chalenge kyuki logon ke munh pe bhi chade hue
hain na. tripathi ji.
Indu: prabhu sun le tu hari sun le tu
Sahil:
Indu:
Sahil:
Indu: popat kaka ki atma o hari! x 3
.. ko swarg de
o sun parmatma x 2
mmmmm….
Sahil: ek minute, ek minute
Indu: kya hua? hans kyon raha hai?
Sahil: kya kar rahe hain aap, dad? to be very frank, this is sounding very ridiculous.
ab kuch sober wala gana ho to, dad.
Indu: accha. sober wala.
Sahil: haan, yah kya hai, dad
Indu: accha sober wala bhi dekhna hai. tripathi ji, sober sur.
Indu: guzar gaye popat kaka, nabe saal ji liya yahan
shauk se kijiye bhi, unki shok sabha
guzar gaye popat kaka
l.a. mein rehte the vo
sabke chahte the vo
hichki lagi maut ki
fat se nikal gaye vo
guzar gaye…
Sahil: band band band band
Indu: arre, maya, shok sabha mein maine gane ka faisla kiya
maya: indravadhan, main chahti hoon ki log popat kaka ko yaad karke aansu behayen, lekin
hanste hanste unke ankhon mein se aansu nikle, aisa main bilkul nahin chahti
indu: arre to phir hum…
Maya: main ga lungi kisi tarah
Monisha: aap gayengi, mami ji. aur jhamke gayengi. yah lijiye, jhalandar baba ke kuen ka paani, pi lijiye.
ise pike aapki gala ki kharash bilkul chali jayegi.
maya: nahin, main aisi chizon mein vishwas nahin karti.
Monisha: lekin main baba ke ashram mein pure ek sau ek rupaye chadha ke aayi hoon, yah dekhiye guarantee receipt.
Maya: guarantee receipt?
Indu: maya main to kehta hoon pi lo zara jhalandar baba ki jai bolke
Sahil: haan, mom, pi lijiye na
Monisha: please, mumi ji, pi lijiye
Sahil: pi lijiye, pi lijiye

Scene 10 (16:21)

Indu: haan, Ilaben, vo jhalandar baba ka kamal dekh liya. haan maya ka gala ek dum saaf ho gaya.
awaz bhi chli gayi kharash ke saath saath. haan, hello?
Monisha: zarur is paani mein kisi ne milavat ki hogi, warna vo kua to ek sau saat saal se mashur hai.
Indu: kya? monisha, tumne maya ko ek sau saat saal purana paani pilaya?
Sahil: us kue mein har saal fresh paani bhi girta hai, dad. bharish hoti hai na? narad muni…
um, mom, ye sare problem monisha ki ek choti si galati ki wajah… thodi badi galati ki wajah…
alright, badi si galati ki wajah se hui hai, aur iski penalty monisha ko ki chukani padegi

Scene 11 (17:20)

Monisha: Sarabhai parivar ki or se aap sab ko jai shri krishna. swargiya lal popat
Sahil: popat lal
Monisha: popat lal girdhari lal mofat lal ki atma ko shathanjali arpit karte hue Sarabhai parivar ki or se main ek bhakti ki pesh karne
ja rahi hoon. meri saasu ma, shrimati maya sarabhai inse yah adhikar main sirf isliye liya hai, kyunki inhein
popat kaka ke dehant ka bahut sadma pahuncha hai, vo apni awaz kho baithi, yah meri sansu ma ki mahanata hai,
ki unhone yah pawan zimmedari mujhpar saumpi hai, waise to meri sansu ma ka hriday humesha se bahut vishaal raha hai…
Indu: Sahil?
Sahil: hm?
Indu: ise keh de ki maya abhi tak zinda hai, shratanjai popat kaka ko de rahe hain
Sahil: popat kaka
Monisha: to main apni sansu ma ki or se, yah bhakti ki pesh karti hoon.
Monisha: (They sing a prayer: Vaishnava jaana to).

Scene 12

Indu: arre vah, maya, kya bana rahi ho
Maya: nachos with salsa, enchiladas, burritos, and ginger pudding
Indu: lekin maya, popat kaka ko guzare hue to…
Maya: ek mahina ho gaya, indravadhan. ab shok khatm hai. in fact, kal maine popat kaka ke liye apne ghar pe ek
choti si smaran sabha ki hai, with cocktails, jis mein, main gana gaungi, finally.
Indu: chalo. thank god tumhari awaz to…
Maya: sound as a bell, for he was a jolly good fellow, he was a jolly good fellow,
he was a jolly good fellow, and so say all of us.
Indu: vah vah vah, English bhajan gaogi?
Monisha: mami ji, main sabji layi. anything wrong?
Maya: not… not yet, beta. not yet!

  • Great job!

  • Hi David, I see that this movi is a good illustration to your blog about ‘Hinglish’!
    Some parts are not so clear for me, please tell, how to translate the following phrases:
    1) पोपट काका – is it name of some relative?
    2) तायारी में हैं
    3) उसके सिर पर अच्छी ख़ासी फसल हो गयी है: the word ख़ासी what does it mean here?

    • Hi, Kateryna! Yes, indeed – this is a good illustration of the use of English in Hindi! पोपट काका does indeed refer to a relative (Maya’s uncle). पोपट is a Gujarati word which means “parrot”. काका means “uncle”; it is not a Hindi word. It is used in Gujarati and Marathi. The Hindi equivalent is “चाचा” (father’s brother). The Hindi word for parrot is तोता. I actually encountered a parrot once in India that could say “तोता”! So, पोपट काका is Maya’s “parrot uncle”. A lot of jokes in the episode make fun of his name. तायारी में हैं means, literally, “He is in preparation (for death)”; Maya is saying that her uncle is about to die. ख़ासी is a typographical error; it should be खांसी (“cough / throat irritation”). The idiom “फसल हो गयी है” is just like the English idiom “to crop up”. अच्छी is used ostensibly here (the cough isn’t “good”, but “severe”). So this sentence means something like “A pretty good cough/cold has cropped up in her head”. Let me know if you have any other questions.

      • Bahut dhanyavaad!

        • In the Scene 3 ‘बुर्क़ा पहेंके जाना’ and in the Scene 4 ‘अपने आप को संभालो’ how are translated?

          • पहेंके is a typographical error. It should be पहनके (conjunctive participle of पहनना). In Scene 3, Indravadan is saying “I told him, ‘Go before the visa officer wearing a burqa'”. संभालना means “to manage, to handle, to take care of”. In Scene 4, Sahil is telling Monisha something like “Take care of yourself”, “Get a hold of yourself”, etc. He’s telling her to manage her “grief” (she is only upset because she will not be able to shop in the malls in Los Angeles).

  • Michael

    भैया, आप ने ye योजना बनाने में काफी अच्छा किया. मुझे यकीन है की लोग जो seriously/hardworkingly हिंदी सीखते हैं, वे बहुत सीखेंगे इन lessons से. बहुत बढ़िया, भैया.

    aur is situation mein “seriously” ko kya kehte hain hindi mein?

    • धन्यवाद. मैंने हाल ही में दुसरे प्रतिलेख की तैयारी करना शुरू किया है. ऐसी स्थितियों में हम “गंभीरता” शब्द का इस्तेमाल कर सकते हैं, जैसे “गंभीरता से हिंदी पढ़ने वाले लोग इन प्रतिलेखों से बहुत कुछ सीखेंगे”, या “जो लोग गंभीरता से हिंदी पढ़ते हैं, वे इन प्रतिलेखों से बहुत कुछ सीखेंगे”, वगैरह. गंभीर = “serious”, गंभीरता = “seriousness” (सब “-ता” से समाप्त होने वाले शब्द स्त्रीलिंग हैं), गंभीरता से = “seriously”. विभिन्न सन्दर्भों में इस के ये सब अर्थ निकल सकते हैं: “earnest”, “serious”, “severe”.

      • Michael

        मैं समझ गया. आपका बहुत धन्यवाद. माफ़ कीजिये, कभी कभी मैं कोई ग़लती करता हूँ, बहुत ज्यादा जल्दी से लिखने के कारण, और कम हिंदी के ज्ञान के कारण. अगर मैं बता सकता कि आपकी वेबसाइट कितना सहायक है,मैं वही बताता, पर मैं बता नहीं सकता!

        • कोई बात नहीं! माफ़ी मांगे की कोई ज़रूरत नहीं है. मैं भी कई गलतियां करता हूं. सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि हम कोशिश करते रहें. हमारे लिए अपनी गलतियां सुधारना ज़रूरी है, पर हमें गलतियां करने की ज्यादा चिंता नहीं करनी चाहिए. आप अच्छी तरह से हिंदी लिखते हैं. मैं ख़ुश हूं कि मेरी वेबसाइट आप के लिए सहायक है. प्रशंसा के लिए बहुत धन्यवाद.

      • नमस्ते, आपके व्यक्त में ‘मैंने हाल ही में’ और ‘विभिन्न सन्दर्भों में’ कैसे अनुवाद कर सकते हैं?

        • Hi, Kateryna – हाल ही में = “recently”, विभिन्न सन्दर्भों में = “in various contexts”

  • Pingback: Hindi material | Pearltrees()